क्रिप्टो करेंसी से पैसा कैसे कमाए?

जमा और निकासी के विकल्प

जमा और निकासी के विकल्प
    .
  1. सबसे ऊपर, सूचनाएं विकल्प को चुनें.
  2. अगर आपको कोई रेड अलर्ट मिला है, तो अपने क्रेडिट/डेबिट कार्ड की जानकारी डालें और टीम के जवाब का इंतज़ार करें.

जलालपुर में बैंकों की हड़ताल: नगद जमा और निकासी के लिए परेशान हुए लोग, बैरंग लौटे

अंबेडकरनगर के जलालपुर में सरकार द्वारा किए जा रहे प्राइवेटाइजेशन के विरोध में बैंक कर्मी हड़ताल पर हैं जिससे लोगों की समस्याओं में इजाफा हो गया है। दो दिवसीय हड़ताल में तमाम बैंक शामिल है जिसके चलते उनके ग्राहकों को काफी समस्याओं का भी सामना करना पड़ा। .

सुरहूरपुर निवासी कृपा शंकर मौर्य नकद पैसे निकालने के लिए बैंक गये थे खाली हाथ बैंक का चक्कर लगाकर वापस आ गए। उन्होंने बताया कि अब किसानी का समय आ गया है ,पछुवा हवा चल रही है गेंहू की कटिया का समय है पैसों की ज़रूरत तो पड़ेगी ही। ऐसे में हड़ताल के चलते परेशान हुए।

मुंगरी निवासी उमेश यादव ने भी हड़ताल के चलते परेशानियां बताते हुए कहा कि नकद पैसों का काम लगा रहता है,डिजिटल लेनदेन हर जगह नही किया जा सकता,खासतौर पर अगर कुछ लेबर का काम करा रहे हो औरआपको मजदूरी देनी हो तो नकद के अलावा कोई विकल्प नही बचता।

फिलहाल अभी दोपहर तक बैंकों के एटीएम के हलक सूखे नहीं है लोग कुछ हद तक एटीएम के सहारे हैं लेकिन बैंक जाकर लेनदेन करने वाले ग्रामीण लोगो और छोटी बचत वाले,निम्न मध्यम वर्ग के लिए काफी समस्या उत्पन्न हुई है। एक वर्ग ऐसा भी है जिसके लिए डिजिटल लेनदेन करने के कारण हड़ताल हाल फिलहाल समस्या नहीं है।

बिंदास पुर निवासी अमरेश पाल और शाहपुर निवासी बैजनाथ तिवारी ने जहां हड़ताल के चलते परेशानियां बताई वही की डिजिटल लेनदेन को बढ़िया बताते हुए कहा कि आम आदमी अभी भी खुलकर डिजिटल लेनदेन करने में असहज महसूस करता है।सरकार को डिजिटल लेनदेन में लोगों की रुचि बढ़ाने के लिए विशेष प्रयास करना चाहिए।

इस पूरे परिदृश्य में सबसे अधिक परेशानी ग्रामीण उपभोक्ताओं को हो रही जो जानकारी के अभाव में बैंक तक पहुच कर बैरंग वापस हो रहे हैं और जिनके पास शाखा में जाकर ही लेनदेन का विकल्प खुला हुआ है।

विशेषज्ञों की राय: आखिरी विकल्प हो तभी पीएफ खाते से निकालें पैसे, लंबी अवधि में होगा बड़ा नुकसान

प्रतीकात्मक तस्वीर

महामारी की दूसरी लहर के बीच ईपीएफओ ने अपने 6 करोड़ खाताधारकों को राहत देते हुए पीएफ खाते से दूसरी बार अग्रिम निकासी की सुविधा दी है। इसके तहत कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के खाताधारक अपने खाते में जमा राशि का 75 फीसदी या तीन महीने के मूल वेतन एवं महंगाई भत्ते के बराबर रकम (दोनों में जो कम हो) निकाल सकते हैं।

विशेषज्ञों का कहना है कि सरकार ने महामारी को देखते हुए भले ही दूसरी बार यह सुविधा दी है, लेकिन इसका इस्तेमाल आखिरी विकल्प के रूप में ही किया जाना चाहिए। पीएफ खाते से निकासी पर लंबी अवधि में बड़ा नुकसान हो सकता है। संकट की इस घड़ी में अगर अपने पीएफ खाते से एक लाख रुपये निकालते हैं तो 8.50 फीसदी की सालाना ब्याज दर के हिसाब से 30 साल में आपकी रिटायरमेंट राशि 11.55 लाख रुपये कम हो जाएगी। अगर रिटायरमेंट के 25 साल बचे हैं तो 7.68 लाख और 20 साल बचे हैं तो 5.11 लाख रुपये की चपत लग सकती है। खाते से जितनी ज्यादा निकासी करेंगे, रिटायरमेंट की रकम उसी हिसाब से घटती जाएगी।

ऐसे समझें निकासी का गणित
मान लीजिए, 31 मार्च 2021 तक आपके खाते में 10 लाख रुपये है और आपका बेसिक वेतन 50,000 रुपये है। ऐसे में आप तीन महीने के वेतन के बराबर राशि यानी 1.5 लाख रुपये निकाल सकते हैं। इसके अलावा, अगर खाते में जमा कुल रकम 2 लाख रुपये है और आपका बेसिक मासिक वेतन 51,000 रुपये है, तब भी आप 1.5 लाख रुपये ही निकाल सकते हैं। यहां तीन महीने का कुल मासिक वेतन 1.53 लाख रुपये होगा, जबकि कुल जमा यानी 2 लाख रुपये का 75 फीसदी 1.5 लाख रुपये बनेगा। इन दोनों में से जो भी कम हो, वही रकम यानी 1.5 लाख रुपये ही निकाल सकते हैं।

निकासी एक लाख, चपत 11.55 लाख रुपये
साल नुकसान (रुपये में)
5 1,50,365.67
10 2,26,098.34
15 3,39,974.29
20 5,11,204.61
25 7,68,676.24
30 11,55,825.65
(गणना : सालाना 8.5 फीसदी ब्याज पर)

नुकसान से बचने को करें वॉलिंटरी योगदान
विशेषज्ञों का कहना है कि पीएफ से निकासी समझदारी भरा फैसला नहीं है। अगर निकासी ही आखिरी विकल्प है और आप नुकसान भी नहीं उठाना चाहते हैं तो पीएफ खाते में वॉलिंटरी योगदान करना चाहिए। ऐसा करने से थोड़े समय में उस रकम की भरपाई हो जाएगी, जितनी आपने निकाली है।

. तो लंबी अवधि में होगा बड़ा नुकसान
पीएफ खाते से निकासी आखिरी विकल्प होना चाहिए वर्ना लंबी अवधि में बड़ा नुकसान हो सकता है। इसका असर रिटायरमेंट के बाद मिलने वाली राशि पर पड़ेगा। ऐसे में बेहतर होगा कि संकट में वित्तीय जरूरतें पूरी करने के लिए अन्य विकल्पों का चुनाव करें। मसलन, किसी जानकार से कर्ज लेना, पर्सनल लोन लेना, क्रेडिट कार्ड से निकासी, गोल्ड लोन और टॉप-अप होम लोन आदि विकल्प अपनाकर पीएफ खाते से निकासी से बच सकते हैं। -बलवंत जैन, निवेश एवं टैक्स सलाहकार

विस्तार

महामारी की दूसरी लहर के बीच ईपीएफओ ने अपने 6 करोड़ खाताधारकों को राहत देते हुए पीएफ खाते से दूसरी बार अग्रिम निकासी की सुविधा दी है। इसके तहत कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के खाताधारक अपने खाते में जमा राशि का 75 फीसदी या तीन महीने के मूल वेतन एवं महंगाई भत्ते के बराबर रकम (दोनों में जो कम हो) निकाल सकते हैं।

विशेषज्ञों का कहना है कि सरकार ने महामारी को देखते हुए भले ही दूसरी बार यह सुविधा दी है, लेकिन इसका इस्तेमाल आखिरी विकल्प के रूप में ही किया जाना चाहिए। पीएफ खाते से निकासी पर लंबी अवधि में बड़ा नुकसान हो सकता है। संकट की इस घड़ी में अगर अपने पीएफ खाते से एक लाख रुपये निकालते हैं तो 8.50 फीसदी की सालाना ब्याज दर के हिसाब से 30 साल में आपकी रिटायरमेंट राशि 11.55 लाख रुपये कम हो जाएगी। अगर रिटायरमेंट के 25 साल बचे हैं तो 7.68 लाख और 20 साल बचे हैं तो 5.11 लाख रुपये की चपत लग सकती है। खाते से जितनी ज्यादा निकासी करेंगे, रिटायरमेंट की रकम उसी हिसाब से घटती जाएगी।

ऐसे समझें निकासी का गणित
मान लीजिए, 31 मार्च 2021 तक आपके खाते में 10 लाख रुपये है और आपका बेसिक वेतन 50,000 रुपये है। ऐसे में आप तीन महीने के वेतन के बराबर राशि यानी 1.5 लाख रुपये निकाल सकते हैं। इसके अलावा, अगर खाते में जमा कुल रकम 2 लाख रुपये है और आपका बेसिक मासिक वेतन 51,000 रुपये है, तब भी आप 1.5 लाख रुपये ही निकाल सकते हैं। यहां तीन महीने का कुल मासिक वेतन 1.53 लाख रुपये होगा, जबकि कुल जमा यानी 2 लाख रुपये का 75 फीसदी 1.5 लाख रुपये बनेगा। इन दोनों में से जो भी कम हो, वही रकम यानी 1.5 लाख रुपये ही निकाल सकते हैं।

निकासी एक लाख, चपत 11.55 लाख रुपये
साल नुकसान (रुपये में)
5 1,50,365.67
10 2,26,098.34
15 3,39,974.29
20 5,11,204.61
25 7,68,676.24
30 11,55,825.65
(गणना : सालाना 8.5 फीसदी ब्याज पर)

नुकसान से बचने को करें वॉलिंटरी योगदान
विशेषज्ञों का कहना है कि पीएफ से निकासी समझदारी भरा फैसला नहीं है। अगर निकासी ही आखिरी विकल्प है और आप नुकसान भी नहीं उठाना चाहते हैं तो पीएफ खाते में वॉलिंटरी योगदान करना चाहिए। ऐसा करने से थोड़े समय में उस रकम की भरपाई हो जाएगी, जितनी आपने निकाली है।


. तो लंबी अवधि में होगा बड़ा नुकसान
पीएफ खाते से निकासी आखिरी विकल्प होना चाहिए वर्ना लंबी अवधि में बड़ा नुकसान हो सकता है। इसका असर रिटायरमेंट के बाद मिलने वाली राशि पर पड़ेगा। ऐसे में बेहतर होगा कि संकट में वित्तीय जरूरतें पूरी करने के लिए अन्य विकल्पों का चुनाव करें। मसलन, किसी जानकार से कर्ज लेना, पर्सनल लोन लेना, क्रेडिट कार्ड से निकासी, गोल्ड लोन और टॉप-अप होम लोन आदि विकल्प अपनाकर पीएफ खाते से निकासी से बच सकते हैं। -बलवंत जैन, निवेश एवं टैक्स सलाहकार

अपने खाते पर पैसे चुकाने में आने वाली समस्याएं ठीक करना

अगर आप Google Play से कुछ खरीदने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन आपके चुकाए गए पैसे अस्वीकार कर दिए जाते हैं या उसकी प्रोसेस पूरी नहीं होती, तो ये तरीके आज़माकर देखें.

पेमेंट की जानकारी की पुष्टि करना

आपकी पेमेंट्स प्रोफ़ाइल बंद की जा सकती है. अपनी प्रोफ़ाइल को फिर से चालू करने के लिए, क्रेडिट/डेबिट कार्ड की जानकारी सबमिट करें.

    .
  1. सबसे ऊपर, सूचनाएं विकल्प को चुनें.
  2. अगर आपको कोई रेड अलर्ट मिला है, तो अपने क्रेडिट/डेबिट कार्ड की जानकारी डालें और जमा और निकासी के विकल्प टीम के जवाब का इंतज़ार करें.

पैसे चुकाने का कोई दूसरा तरीका आज़माना

अगर पैसे चुकाने के किसी तरीके में कोई समस्या है, तो आप किसी दूसरे तरीके का इस्तेमाल कर सकते हैं.

  1. अपने Android फ़ोन या टैबलेट पर, Google Play स्टोर ऐप्लिकेशन खोलें.
  2. उस आइटम पर वापस जाएं जिसे आप खरीदना चाहते हैं और कीमत पर टैप करें.
  3. पैसे चुकाने के मौजूदा तरीके पर टैप करें.
  4. पैसे चुकाने का काेई दूसरा तरीका चुनें या नया तरीका जोड़ें.
  5. अपनी खरीदारी पूरी करने के लिए, स्क्रीन पर दिए गए निर्देशों का पालन करें.

क्रेडिट और डेबिट कार्ड की गड़बड़ियों को ठीक करना

अगर आपको नीचे दिए गए गड़बड़ी के मैसेज में से कोई एक दिखाई देता है, तो समस्या शायद आपके क्रेडिट या डेबिट कार्ड में हो सकती है:

  • "पैसे चुकाने की प्रोसेस पूरी नहीं हो पा रही है: कार्ड में बैलेंस कम है"
  • लेन-देन पूरा नहीं हो पा रहा है. कृपया पैसे चुकाने के किसी दूसरे तरीके का इस्तेमाल करें"
  • "आपका लेन-देन पूरा नहीं किया जा सकता"
  • "लेन-देन पूरा नहीं हो पा रहा है: कार्ड की तारीख खत्म हो गई है"
  • "इस कार्ड की जानकारी को ठीक करें या किसी दूसरे कार्ड का इस्तेमाल करें"

इन गड़बड़ियों को ठीक करने के लिए, नीचे दिए गए तरीके आज़माकर देखें:

आम तौर पर, क्रेडिट कार्ड की समय-सीमा खत्म होने या पुराना बिलिंग पता होने की वजह से पेमेंट सही तरीके से नहीं हो पाता है. इस जानकारी को अपडेट करने के लिए Google Payments का इस्तेमाल करें:

जिन कार्ड की समय-सीमा खत्म हो चुकी है उन्हें हटाना या अपडेट करना

अगर क्रेडिट कार्ड की समयसीमा खत्म हो चुकी है, तो उनका इस्तेमाल करने से पेमेंट अस्वीकार किए जा सकते हैं. जिन कार्ड की समय-सीमा खत्म हो चुकी है उन्हें अपडेट करने के लिए:

  1. अपने Google खाते से https://pay.google.com में साइन इन करें.
  2. खरीदारी करने के लिए, पैसे चुकाने का अपना पसंदीदा तरीका चुनें.
  3. सूची में मौजूद पैसे चुकाने के तरीकों के खत्म होने की तारीख देखें.
  4. ऐसे किसी भी पैसे चुकाने के तरीके को हटाएं या अपडेट करें जिसकी तारीख खत्म हो चुकी है.

देखें कि आपके कार्ड का पता Google Payments में दिए गए पते से मेल खाता हो

अगर आपका क्रेडिट कार्ड किसी दूसरे पते पर रजिस्टर है, तो इस वजह से आपका पेमेंट अस्वीकार किया जा सकता है. पक्का करें कि पिन कोड आपके मौजूदा पते से मिलता हो.

  1. अपने Google खाते से https://pay.google.com में साइन इन करें.
  2. खरीदारी करने के लिए, पैसे चुकाने का अपना पसंदीदा तरीका चुनें.
  3. बदलाव करें पर क्लिक करें.
  4. पक्का करें कि सूची में मौजूद पता, आपके कार्ड के बिलिंग पते से मिलता हो.
  5. अगर ज़रूरी हो, तो पता अपडेट करें.

इसके बाद, फिर से खरीदारी करने की कोशिश करें.

अगर निर्देशों के बाद गड़बड़ी के मैसेज में Google को कुछ और जानकारी सबमिट करने के लिए कहा जाता है, तो कृपया उसे सबमिट करें. इस जानकारी के बिना हम आपके खाते पर लेन-देन पूरा नहीं कर पाएंगे.

कभी-कभी ज़रूरी पैसे नहीं होने की वजह से लेन-देन अस्वीकार कर दिया जाता है. अपना खाता देखकर यह पक्का करें कि आपके पास खरीदारी पूरी करने के लिए ज़रूरी पैसे हैं.

आपके कार्ड में ऐसे खास प्रतिबंध हो सकते हैं जिनकी वजह से लेन-देन अस्वीकार किया जा सकता है. लेन-देन के बारे में पूछने के लिए, आपका कार्ड जारी करने वाले संस्थान से संपर्क करें और पता लगाएं कि उन्हें पेमेंट अस्वीकार किए जाने की वजह मालूम है या नहीं.

पैसे चुकाने के अन्य तरीकों (डायरेक्ट कैरियर बिलिंग, ऑनलाइन बैंकिंग, Google Play बैलेंस, उपहार कार्ड वगैरह) से जुड़ी गड़बड़ियां ठीक करना

अगर आपको यह मैसेज दिखता है, तो ऐसा इन वजहों से हो सकता है:

  • हमें आपकी पेमेंट्स प्रोफ़ाइल पर एक संदिग्ध लेन-देन दिखा है.
  • आपके खाते को धोखाधड़ी का शिकार होने से बचाने के लिए, हमें थोड़ी और जानकारी चाहिए.
  • ईयू (यूरोपीय संघ) कानून का पालन करने के लिए, हमें थोड़ी और जानकारी की ज़रूरत है (सिर्फ़ यूरोपियन यूनियन के सदस्य देशों के ग्राहकों के लिए).

इन समस्याओं को ठीक करने में मदद करने के लिए:

    पर जाएं.
  1. पेमेंट्स सेंटर में किसी भी गड़बड़ी या अनुरोध पर कार्रवाई करें.
    • अपना Google खाता इस्तेमाल करके कुछ भी खरीदने से पहले, आपको अपनी पहचान की पुष्टि करनी पड़ सकती है.
  2. पक्का करें कि आपका नाम, पता, और पैसे चुकाने की जानकारी जमा और निकासी के विकल्प अप-टू-डेट है.

अगर आपको डायरेक्ट कैरियर बिलिंग का इस्तेमाल करके पैसे चुकाने में समस्या आ रही है, तो नीचे दिए गए तरीकों को आज़माएं:

  • पक्का करें कि आप अपनी मोबाइल और इंटरनेट सेवा देने वाली कंपनी के नेटवर्क से सीधे तौर पर या वाई-फ़ाई से कनेक्ट हों.
  • पक्का करें कि आपने पैसे चुकाने के तरीके के तौर पर डायरेक्ट कैरियर बिलिंग की सेवा जोड़ ली हो.
  • पक्का करें कि आप स्थानीय मुद्रा का इस्तेमाल कर रहे हों.

अगर आपको अब भी समस्याएं आ रही हैं, तो मदद के लिए अपने मोबाइल फ़ोन पर नेटवर्क और इंटरनेट की सेवा देने वाली कंपनी से संपर्क करें.

अगर आपको पेमेंट के किसी दूसरे तरीके का इस्तेमाल करने में कोई समस्या आ रही है, तो उसे ठीक करने के लिए Google Payments पर जाएं.

  1. अपने Google खाते से https://pay.google.com में साइन इन करें.
  2. जानकारी मांगने वाली कोई भी सूचना या अनुरोध खोजें और जो भी जानकारी मांगी जाए उसे उपलब्ध कराएं.
  3. पक्का करें कि आपका पता अप-टू-डेट हो.
  4. देखें कि पैसे चुकाने के आपके पसंदीदा तरीके, सूची में मौजूद हैं या नहीं.

आपके कार्ड के चोरी होने की शिकायत की गई थी. कार्ड फिर से इस्तेमाल करने से पहले, आपको उसकी पुष्टि करनी होगी:

    पर जाएं और अपने खाते में साइन इन करें.
    1. अगर आपके पास एक से ज़्यादा खाते हैं, तो उस खाते में साइन इन करें जो धूसर किए गए कार्ड से जुड़ा है.

    अगर आप पैसे चुकाने के तरीके की फिर से पुष्टि करने की कोशिश करते हैं, तो:

    1. यह पक्का करें कि आप किस कार्ड की पुष्टि करना चाहते हैं.
    2. देखें कि आपने कितने समय पहले, अपने कार्ड की पुष्टि करने की कोशिश की थी.
      • अगर यह समय दो दिनों से कम है: दो दिनों तक इंतज़ार करें.
      • अगर यह समय दो दिनों से ज़्यादा है: अपने कार्ड का बिल देखें. आपको Google की ओर से लगाया हुआ एक अस्थायी शुल्क दिखेगा, जिसे "GOOGLE TEST" कहते हैं. साथ ही, आठ अंकों वाला एक कोड भी दिखेगा.

    यह खरीदारी करने के लिए, आप इस कार्ड का इस्तेमाल नहीं कर सकते. किसी और कार्ड का इस्तेमाल करके, फिर से खरीदारी करने की कोशिश करें.

    अगर सूची में वह कार्ड शामिल नहीं है जिसका आप इस्तेमाल करना चाहते हैं, तो नया कार्ड जोड़ने के लिए स्क्रीन पर दिए गए निर्देशों का पालन करें.

    RD vs SIP - जोखिम, रिटर्न , लाभ, कार्यकाल, तुलना, बेहतर निवेश विकल्प कौन सा है?

    RD vs SIP - जोखिम, रिटर्न , लाभ, कार्यकाल, तुलना, बेहतर निवेश विकल्प कौन सा है?

    RD क्या है?

    आवर्ती जमा (RD) एक प्रकार की सावधि जमा है जहां निवेशक हर महीने एक निश्चित अवधि के लिए सावधि जमा करते हैं। यह 6 महीने से लेकर 10 साल तक की अवधि के लिए पेश किया जाता है। आवर्ती जमा निवेशकों को इसके विभिन्न लाभों के लिए बहुत लोकप्रिय हैं जैसे कि कम जोखिम वाला निवेश, कार्यकाल का लचीलापन, अच्छी ब्याज दरों की पेशकश, समय से पहले निकासी की सुविधा, आदि। भारत में आवर्ती जमा योजनाएं विभिन्न सार्वजनिक और निजी बैंकों, डाकघर, और अन्य वित्तीय संस्थान द्वारा पेश की जाती हैं। NBFCs के साथ जमा करने पर बेहतर रिटर्न मिल सकता है, ज्यादातर बैंक कम जोखिम उठाते हैं।

    RD की विशेषताएं

    1. निवेश का कार्यकाल

    आवर्ती जमा (RD) की पेशकश संस्था के आधार पर 6 महीने से 10 साल तक की अवधि के लिए निवेश की अवधि है।

    2. ब्याज की दर

    RD पर दिए जाने वाले ब्याज की दर संस्थानों की पेशकश करने के लिए भिन्न होती है। इसके अलावा, विभिन्न निवेश कार्यकालों के लिए ब्याज दर अलग-अलग है।

    3. समयपूर्व निकासी

    परिपक्वता प्राप्त करने के बाद ही इस खाते से निकासी की अनुमति दी जाती है। हालांकि, यदि आप परिपक्वता अवधि से पहले राशि को वापस लेने का विकल्प चुनते हैं, तो यह एक समयपूर्व जुर्माना आकर्षित करता है जो बैंकों में भिन्न होता है।

    4. ऋण उपलब्धता

    RD पर ऋण लेने का विकल्प भी है। बैंक जमा राशि का 95% तक संपार्श्विक के रूप में उपयोग किए गए जमा पर ऋण की अनुमति दे सकते हैं।

    5. जोखिम

    आवर्ती जमा (RD) में जोखिम के निम्न स्तर शामिल हैं और इसे निवेश के सबसे सुरक्षित तरीकों में से एक माना जाता है। हालांकि, NBFC के साथ जमा करने के मामले में संस्थानों की क्रेडिट रेटिंग पर विचार करना बहुत महत्वपूर्ण है।

    6. आंशिक निकासी सुविधा

    बैंक आवर्ती जमा (RD) के लिए आंशिक निकासी की सुविधा प्रदान नहीं करते हैं। हालांकि, डाकघर आंशिक निकासी सुविधा प्रदान करते हैं, जिसमें न्यूनतम ब्याज के 1 वर्ष के बाद शेष राशि के 50% तक के ऋण की अनुमति दी जाती है, जिसे एकल शॉट भुगतान में वापस भुगतान करने की आवश्यकता होती है। निकासी के समय ब्याज दर निर्धारित दरों के अनुसार लागू होगी।

    SIP क्या है?

    सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) निवेशकों को म्यूचुअल फंड द्वारा दिए गए निवेश का एक तरीका है जिसमें वे एकमुश्त निवेश करने के बजाय समय-समय पर निश्चित निवेश कर सकते हैं। इस तरह SIP निवेशक की जरूरतों के अनुसार निवेश के लिए छोटे योगदान देने में मदद करता है और निवेश का एक अनुशासनात्मक दृष्टिकोण प्रदान करता है जो वित्तीय लक्ष्यों को पूरा करने में मदद कर सकता है।

    SIP की विशेषताएं

    1. चक्रवृद्धि प्रभाव

    जब आप SIP के माध्यम से निवेश करते हैं और एक लंबे कार्यकाल के लिए योगदान करते हैं, तो SIP लाभ चक्रवृद्धि प्रभाव से बढ़ जाता है। चक्रवृद्धि प्रभाव यह सुनिश्चित करता है कि आप निवेश जमा और निकासी के विकल्प पर किए गए रिटर्न पर भी रिटर्न अर्जित करें। इस तरह से दीर्घावधि में, एक निवेशक अपनी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए एक बड़े कोष का निर्माण करने में सक्षम होता है।

    2. रुपये की औसत लागत

    SIP निवेशकों को अपने निवेश की औसत लागत को कम करने और बाजार की स्थितियों में समय-समय पर निवेश करने में सक्षम होने से बाजार की अस्थिरता से जुड़े जोखिमों को कम करने में सक्षम बनाता है। इस अवधारणा को रुपये की औसत लागत के रूप में जाना जाता है।

    3. न्यूनतम निवेश आवश्यकताएँ

    SIP निवेशकों को योजनाओं के आधार पर 100 या 500 रुपये का न्यूनतम निवेश करने की अनुमति देता है।

    4. लॉन्ग टर्म गोल्स मिलना

    SIP लंबी अवधि के लिए नियमित बचत और निवेश के अनुशासनात्मक दृष्टिकोण के माध्यम से दीर्घकालिक वित्तीय लक्ष्यों को पूरा करने में मदद कर सकते हैं। SIP को लक्ष्य तक पहुंचने के लिए निवेशक की आवश्यकताओं, वित्तीय लक्ष्यों और समय अवधि के अनुसार नियोजित किया जा सकता है।

    आवर्ती जमा (RD) और सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) के बीच तुलना

    1. जोखिम

    RD में आमतौर पर म्यूचुअल फंड की तुलना में जोखिम के निम्न स्तर होते हैं और इसलिए, कम जोखिम वाले निवेशकों के लिए उपयुक्त हैं। सभी RD कम जोखिम नहीं उठाते हैं, जैसे कि एनबीएफसी और अन्य वित्तीय संस्थानों द्वारा पेश किए गए, जोखिम भरे हो सकते हैं और निवेशकों की ओर से उनकी विश्वसनीयता के गहन निरीक्षण की आवश्यकता होती है।

    जबकि SIP में, विभिन्न म्यूचुअल फंड स्कीमों में विभिन्न जोखिम-रिटर्न विशेषताएँ हैं। संपत्ति वर्गों और उनकी उप-श्रेणियों में म्यूचुअल फंड योजनाओं का एक व्यापक ब्रह्मांड सभी प्रकार के निवेशकों के लिए उत्पाद प्रदान करता है।

    2. तरलता

    RD को तरलता के निम्न स्तर की पेशकश करने के लिए माना जाता है। RD खाते से निकासी की अनुमति परिपक्वता प्राप्त करने के बाद ही दी जाती है। हालांकि, यदि आप परिपक्वता से पहले राशि को वापस लेने का विकल्प चुनते हैं, तो यह दंड या ब्याज दर में कटौती को आकर्षित करेगा।

    जबकि SIP तुलनात्मक रूप से निवेशकों के ELSS फंड को छोड़कर म्यूचुअल फंड योजनाओं से बाहर निकलने की अनुमति देकर उच्च स्तर की तरलता प्रदान करते हैं। हालाँकि, स्कीम कुछ निश्चित समय सीमा से पहले वापस ले ली जा सकती हैं।

    3. निवेश का कार्यकाल

    RD 6 महीने से 10 वर्ष की अवधि के लिए उपलब्ध है। जबकि, SIP में निवेश के लिए कोई विशेष अवधि नहीं होती है और इसे किसी भी समय अवधि के लिए जारी रखा जा सकता है।

    चलिए विभिन्न महत्वपूर्ण पैरामीटर्स पर RDs के साथ SIP की तुलना पर एक नजर डालते हैं

    जमा और निकासी

    अगर कोई ट्रेडिंग गतिविधि नहीं होती है या प्रतिपूर्ति नीति से संबंधित किसी भी प्रकार के दुर्व्यवहार का पता चलता है, तो JustMarkets किसी भी प्रतिपूर्ति शुल्क को वापस लेने का अधिकार रखता है। यदि आप बिना किसी ट्रेडिंग गतिविधि के बाद अपनी राशि को निकालने का अनुरोध करते हैं, तो JustMarkets आपको किसी भी शुल्क की समतुल्य राशि, या कुल निकासी राशि का 3% चार्ज करने का अधिकार रखता है।

    JustMarkets कंपनियों के समूह का ट्रेडिंग नाम है जिसमें शामिल हैं:

    Just Global Markets Ltd., पंजीकरण संख्या 8427198-1, पता: Office 10, Floor 2, Vairam Building, Providence Industrial Estate, Providence, Mahe, Seychelles, जो Seychelles Financial Services Authority (FSA) द्वारा विनियमित कंपनी है और सेक्युरिटी डीलर लाइसेंस नंबर SD088 हैं;

    JustMarkets Ltd, पंजीकरण संख्या HE 361312, पता: 13/15 Grigori Afxentiou street, IDE IOANNOU COURT, Office 102, Mesa Geitonia, 4003, Limassol, Cyprus, जो Cyprus Securities and Exchange Commission (CySEC) द्वारा अधिकृत और विनियमित है और लाइसेंस नंबर 401/21 हैं;

    JGM International Pty Limited, पंजीकरण संख्या 700565, पता: Law Partners House, Kumulu Highway, Port Vila, Vanuatu, जो Vanuatu Financial Services Commission (VFSC) द्वारा अधिकृत और विनियमित हैं।

    यह वेबसाइट Just Global Markets Ltd. के स्वामित्व की है और उसीके द्वारा संचालित है, जो निवेश सेवाएं प्रदान करती है। इस वेबसाइट की किसी भी जानकारी की प्रतिलिपि और JustMarkets ब्रांड विशेषताओं का उपयोग करने के लिए JustMarkets की स्पष्ट लिखित अनुमति जरुरी है।

    GMFT Services Ltd, पंजीकरण संख्या HE 424491, पता: Office G2, 3 Grigoriou Xenopoulou, 3106, Limassol, Cyprus, एक EU मर्चेंट कंपनी है, जो कुछ चीजे प्रदान करती है और भुगतान लेनदेन को संसाधित करने सहित व्यवसाय को संचालित करती है।

    Just Global Markets Ltd. ऑस्ट्रेलिया, कैनेडा, EU और EEA, जापान, यूनाइटेड किंगडम, संयुक्त राज्य अमेरिका और यूरोपीय संघ द्वारा प्रतिबंधित देशों सहित कुछ अधिकार क्षेत्र के निवासियों और नागरिकों को सेवाएं प्रदान नहीं करता।

    जोखिम अस्वीकरण: CFDs जटिल इंस्ट्रूमेंट हैं और इसमें लेवरेज के कारण तेजी से पैसा खोने का उच्च जोखिम रहता है। CFDs पर ट्रेड करते समय अधिकांश रिटेल निवेशक खाते पैसे खो देते हैं। आपको इस बात पर विचार करना चाहिए कि क्या आप समझते हैं कि CFDs कैसे काम करते है और क्या आप अपने पैसे खोने का उच्च जोखिम उठा सकते हैं।

रेटिंग: 4.67
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 347
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *