गारंटीड परिणाम

शेयर बाजार के सूचकांक

शेयर बाजार के सूचकांक

शेयर बाजार के सूचकांक

खरीदारी के सपोर्ट से झूमा शेयर बाजार, नई ऊंचाई तक पहुंचा सेंसेक्स

नई दिल्ली, 24 नवंबर (हि.स.)। नवंबर महीने के एक्सपायरी के दिन घरेलू शेयर बाजार में जबरदस्त तेजी दर्ज की गई। सेंसेक्स और निफ्टी दोनों सूचकांकों ने बढ़त के साथ आज के कारोबार की शुरुआत की। शुरुआती मिनट के मामूली झटकों के बावजूद दोनों सूचकांक दिनभर मजबूती के साथ काम करते रहे। आखिरी आधे घंटे के कारोबार में बाजार में जोरदार लिवाली का जोर बना, जिसके कारण इन दोनों सूचकांकों ने जबरदस्त छलांग लगाई। लिवाली के सपोर्ट से सेंसेक्स 1.24 प्रतिशत और निफ्टी 1.19 प्रतिशत की उछाल के साथ बंद होने में सफल रहे।

आज दिनभर के कारोबार में सरकारी कंपनियों और आईटी सेक्टर के शेयरों में जोरदार खरीदारी का रुख बना रहा। इसी तरह एनर्जी, एफएमसीजी, बैंकिंग, रियल्टी, मेटल और फार्मास्यूटिकल सेक्टर में भी लगातार खरीदारी होती रही। दिनभर हुई खरीद बिक्री में कंज्यूमर ड्यूरेबल को छोड़कर शेष सभी सेक्टर बढ़त के साथ हरे निशान में बंद हुए। दिनभर के कारोबार के बाद मिडकैप इंडेक्स भी 139 अंक की बढ़त के साथ 31,289 अंक के स्तर पर बंद होने में सफल रहा।

पूरे दिन हुए कारोबार के दौरान स्टॉक मार्केट में 1,976 शेयरों में एक्टिव ट्रेडिंग हुई। इनमें से 1,149 शेयर मुनाफा कमाकर हरे निशान में बंद हुए, जबकि 827 शेयर नुकसान उठाकर लाल निशान में बंद हुए। इसी तरह सेंसेक्स में शामिल 30 शेयरों में से 26 शेयर बाजार के सूचकांक शेयर लिवाली के सपोर्ट से हरे निशान में और 4 शेयर बिकवाली के दबाव के कारण लाल निशान में बंद हुए। जबकि निफ्टी में शामिल 50 शेयरों में से 43 शेयर हरे निशान में और 7 शेयर लाल निशान में बंद हुए।

वैश्विक स्तर पर मिल रहे मजबूत संकेतों के कारण घरेलू शेयर बाजार में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के सेंसेक्स ने भी बढ़त के साथ कारोबार की शुरुआत की। ये सूचकांक 145.42 अंक की उछाल के साथ 61,656 अंक के स्तर पर खुला। शुरुआती मिनट में बाजार में मामूली बिकवाली होती नजर आई, जिससे सेंसेक्स गिरकर 61,600.42 अंक तक पहुंच गया, लेकिन थोड़ी देर बाद ही बाजार में खरीदार हावी हो गए और चौतरफा लिवाली शुरू कर दी।

शेयर बाजार में बनी ये तेजी शाम 3 बजे तक लगभग एक समान स्तर पर बनी रही। सेंसेक्स धीमी गति से लगातार ऊपर की ओर चढ़ता रहा। हालांकि बीच-बीच में बिकवाली की भी कोशिश हुई, लेकिन सेंसेक्स का ऊपर चढ़ना लगातार जारी रहा। शाम 3 बजे के बाद बाजार में अचानक आक्रामक तरीके से लिवाली शुरू हो गई, जिसके कारण अगले 20 मिनट के कारोबार में ही इस सूचकांक ने 901.75 अंक की उछाल के साथ 62,412.33 अंक के स्तर पर पहुंचकर ऑल टाइम हाई का नया रिकॉर्ड कायम किया। इसके पहले 19 अक्टूबर 2021 को इस सूचकांक ने 62,245.43 अंक तक पहुंच कर ऑल टाइम हाई का रिकॉर्ड बनाया था। लेकिन आज सेंसेक्स 13 महीने बाद एक बार फिर मजबूती का नया रिकॉर्ड बनाने में सफल रहा।

हालांकि आखिरी 10 के कारोबार में इंट्रा-डे सेटलमेंट की वजह से हुई बिकवाली के कारण सेंसेक्स ऊपरी स्तर पर बना नहीं रह सका। आखिरी 10 मिनट की बिकवाली के कारण सेंसेक्स सर्वोच्च स्तर से थोड़ा नीचे उतर कर 762.10 अंक की तेजी के साथ 62,272.68 अंक के स्तर पर बंद हुआ। इस तरह सेंसेक्स ने आज क्लोजिंग का भी नया ऑल टाइम हाई रिकॉर्ड बनाया।

सेंसेक्स की तरह ही नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के निफ्टी ने भी आज वैश्विक सपोर्ट के शेयर बाजार के सूचकांक कारण मजबूती के साथ कारोबार की शुरुआत की। निफ्टी 58.85 अंक की तेजी के साथ 18,326.10 अंक के स्तर पर खुला। शेयर बाजार के सूचकांक शुरुआती मिनट में बिकवाली के दबाव की वजह से ये सूचकांक भी गिरकर 18,294.25 अंक तक पहुंचा। लेकिन इसके बाद बाजार में चौतरफा लिवाली शुरू हो जाने के कारण निफ्टी की चाल में भी तेजी आ गई।

लगातार हो रही खरीदारी के कारण इस सूचकांक में भी पूरे दिन तेजी बनी रही। बीच-बीच में छिटपुट स्तर पर बिकवाली भी हुई, जिसका निफ्टी की चाल पर कोई विशेष असर नहीं पड़ा। लेकिन शाम 3 बजे के करीब बाजार में चौतरफा खरीदारी का जोर बन जाने के कारण इस सूचकांक ने भी तेज छलांग लगाई और कारोबार खत्म होने के 10 मिनट पहले ही 262.45 अंक की तेजी के साथ आज के सबसे ऊपरी स्तर 18,529.70 अंक तक पहुंच गया।

हालांकि इस तेजी के बावजूद निफ्टी अपने ऑल टाइम हाई के रिकॉर्ड से करीब 74 अंक पीछे रह गया। इस सूचकांक ने 19 अक्टूबर 2021 को 18,604.45 अंक के स्तर पर पहुंचकर ऑल टाइम हाई का रिकॉर्ड कायम किया था। कारोबार के आखिरी 10 मिनट में हुई बिकवाली के कारण निफ्टी आज के ऊपरी स्तर से थोड़ा गिरकर 216.85 अंक की मजबूती के साथ 18,484.10 अंक के स्तर पर बंद हुआ। निफ्टी आज अपने ऑल टाइम हाई लेवल तक तो नहीं पहुंच सका, लेकिन ये सूचकांक ऑल टाइम हाई क्लोजिंग का नया रिकॉर्ड बनाने में सफल रहा। इसके पहले निफ्टी ने 18 अक्टूबर 2021 को 18,477.05 अंक के स्तर पर बंद होकर ऑल टाइम हाई क्लोजिंग का रिकॉर्ड बनाया था।

बाजार में दिनभर हुई खरीद बिक्री के बाद स्टॉक मार्केट के दिग्गज शेयरों में से अपोलो हॉस्पिटल 4.56 प्रतिशत, एचडीएफसी लाइफ इंश्योरेंस 4.55 प्रतिशत, बीपीसीएल 3.50 प्रतिशत, इंफोसिस 2.95 प्रतिशत और टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट्स 2.93 प्रतिशत की मजबूती के साथ आज के टॉप 5 गेनर्स की सूची में शामिल हुए। दूसरी ओर सिप्ला 1.14 प्रतिशत, कोल इंडिया 0.शेयर बाजार के सूचकांक 91 प्रतिशत, कोटक महिंद्रा 0.44 प्रतिशत, टाटा मोटर्स 0.15 प्रतिशत और बजाज फिनसर्व 0.13 प्रतिशत की कमजोरी के साथ आज के टॉप 5 लूजर्स की सूची में शामिल हुए।

हिन्दुस्थान समाचार/ योगिता

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये यहां क्लिक करें।

Stock Market Today: तेजी के साथ भारतीय शेयर बाजार हुआ बंद, मिडकैप शेयरों में दिखा जोश

घरेलू शेयर बाजार (Indian Stock Market)

घरेलू शेयर बाजार (Indian Stock Market) में आज गुरुवार को तेजी के साथ कारोबार बंद हुआ है. बाजार बंद होने पर मुंबई स्टॉक . अधिक पढ़ें

  • News18 हिंदी
  • Last Updated : December 01, 2022, 16:12 IST

नई दिल्ली. घरेलू शेयर बाजार (Indian Stock Market) में आज गुरुवार को तेजी के साथ कारोबार बंद हुआ है. बाजार बंद होने पर मुंबई स्टॉक एक्सचेंज का सूचकांक सेंसेक्स 184,84 अंकों की तेजी के साथ 63,284.19 और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 42.50 अंकों की तेजी के साथ 18,800.85 अंकों पर बंद हुआ है. बाजार की शुरुआत भी शानदार हुई थी और सेंसेक्स 258 अंकों की बढ़त के साथ 63,358 पर खुला खुला था. निफ्टी में भी 18,800 के ऊपर कारोबार खुला था और दिन में इसने अपनी बढ़त को बरकरार रखा.

आज के कारोबार में अच्‍छी खरीदारी देखने को मिली है. निफ्टी पर आईटी इंडेक्‍स 2 फीसदी से ज्‍यादा मजबूत हुआ है. मेटल इंडेक्‍स में 1.5 फीसदी और रियल्‍टी इंडेक्‍स में करीब 2 फीसदी तेजी रही. बैंक और फाइनेंशियल इंडेक्‍स भी हरे निशान में बंद हुए. हालांकि ऑटो, फार्मा और एफएमसीजी इंडेक्‍स पर दबाव रहा है.

आज के टॉप गेनर्स
आज के कारोबार में हैवीवेट शेयरों में मिक्‍स्‍ड ट्रेंड देखने को शेयर बाजार के सूचकांक मिला है. सेंसेक्‍स 30 के 15 शेयर हरे निशान में बंद हुए हैं. टॉप गेनर्स में आज TATASTEEL, TCS, TECHM, WIPRO, INFY, HCLTECH, LT शामिल हैं तो ICICI बैंक, M&M, कोटक बैंक, HUL, Titan, मारुति में कमजोरी दिखी है.

वेश्विक बाजार में तेजी
बेहतर ग्‍लोबल संकेतों के बीच घरेलू शेयर बाजार में आज रैली देखने को मिली है. अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले रुपया बुधवार को 42 पैसे की मजबूती के साथ दो सप्ताह के उच्च स्तर 81.30 प्रति डॉलर पर बंद हुआ था. इस बीच छह प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी डॉलर की स्थिति को दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 0.27 प्रतिशत गिरकर 105.66 पर आ गया.

फेडरल रिजर्व के प्रमुख जेरोम पॉवेल ने बुधवार को कहा था कि केंद्रीय बैंक ब्याज दरों में वृद्धि की रफ्तार को कम कर सकता है. वैश्विक तेल सूचकांक ब्रेंट क्रूड वायदा 2.89 फीसदी बढ़कर 85.43 डॉलर प्रति बैरल के भाव पर था.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

क्यों एक लाख तक जा सकता है शेयर सूचकांक

भारतीय बाजार की इस वक्त जैसी स्थिति है यह साल 2003 से 2007 के बुल मार्केट जैसी है. जो 2 से 3 साल तक बनी रहेगी. हालांकि आने वाले समय में बाजार में उतार-चढ़ाव जरूर दिख सकते हैं, ऐसे में कुछ सावधानियां बरतने की जरूरत है. लेकिन फिलहाल भारतीय बाजार मजबूत अपट्रेंड में है और ग्लोबल मार्केट से भी बेहतर परफॉर्म कर रहा है.

क्यों एक लाख तक जा सकता है शेयर सूचकांक

संयम श्रीवास्तव | Edited By: सुष्मित सिन्हा

Updated on: Sep 28, 2021 | 8:27 PM

भारतीय शेयर बाजार (Indian Stock Market) हर दिन नई बुलंदियों को हासिल कर रहा है. शेयर मार्केट में लगातार मजबूती बनी हुई है. शुक्रवार को ही बाजार ने अपने सर्वोत्तम स्तर को छुआ और निवेशकों को उससे तगड़ा मुनाफा हुआ. मात्र 8 महीने के भीतर मुंबई स्टॉक एक्सचेंज के 30 शेयरों वाले संवेदी सूचकांक सेंसेक्स ने 50,000 से 60,000 अंक का आंकड़ा पार कर लिया है. जबकि आखरी 5000 अंकों की बढ़त महज 28 कारोबारी दिनों में ही मिल गई. इस साल अब तक निफ्टी और सेंसेक्स (Nifty and Sensex) तकरीबन 25-25 फ़ीसदी ऊपर चढ़ चुके हैं. जानकारों का मानना है कि बीच-बीच में भले ही बाजार में थोड़ी बहुत गिरावट देखने को मिले लेकिन यह तेजी शेयर बाजार के सूचकांक लंबे समय तक रहने वाली है. यहां तक कि अगर ऐसी ही तेजी बनी रही थी अगले 5 सालों में इंडियन स्टॉक मार्केट एक शेयर बाजार के सूचकांक लाख अंकों तक जा सकता है.

जेफरीज में इक्विटी स्ट्रेटजी के ग्लोबल हेड क्रिस्टोफर वुड का कहना है कि इंडियन मार्केट का वैल्यूएशन भले ही ऊपर हो, लेकिन इकोनॉमी की हालत में तेजी से सुधार हो रहा है. वुड का मानना है कि आने वाले लंबे समय तक भारत का हाल बेहतर रहेगा. हां यह जरूर है कि हाल-फिलहाल में मार्केट ऊपर नीचे होगा, लेकिन स्थिति देखने में बेहतर लग रही है. हालांकि ऐसे माहौल में शेयर खरीदना एक बड़े रिस्क को दावत देना है.

5 सालों में एक लाख अंक तक जा सकता है सेंसेक्स

चीन में इस वक्त टेक कंपनियों पर वहां की सरकार सख्ती बरत रही है. ऊपर से रियल स्टेट के खस्ताहाल की वजह से विदेशी निवेशकों का झुकाव पूरी तरह से भारत की ओर बढ़ रहा है, जिससे तमाम नई कंपनियां भारत में सामने आ रही हैं. आने वाले समय में यह भारतीय बाजार में लिस्ट होंगी और इनका असर इंडेक्स पर भी दिखेगा. भारतीय बाजार अपने रिकॉर्ड ऊंचाई पर है और म्यूचुअल फंड से भी तगड़ा पैसा आ रहा है. अगर इसी तरह से भारतीय बाजार में बुल रन लंबा चला तो आने वाले 5 सालों में सेंसेक्स एक लाख अंकों तक भी जा सकता है.

बड़े पैमाने पर बॉन्ड खरीद रहा है अमेरिकी फेडरल रिजर्व बैंक

बाजार में इतने उछाल की एक वजह यह भी है कि अमेरिकी फेडरल रिजर्व बैंक इस वक्त बड़े पैमाने पर बॉन्ड खरीद रहा है. हालांकि बांड खरीद कर अमेरिकी फेडरल रिजर्व बैंक अभी जिस तरह से लिक्विडिटी पंप कर रहा है, आने वाले समय में वह इससे हाथ भी खींच सकता है. अगर फेडरल रिजर्व बैंक ने अचानक ऐसा कोई कदम उठाया तो ग्लोबल लेवल पर बाजारों में बड़ी गिरावट देखने को मिलेगी. जब दुनिया भर के मार्केट गिरेंगे तो इंडियन मार्केट में भी गिरावट नजर आएगी, खासतौर से यह गिरावट स्मॉल कैप्स और आईपीओ मार्केट में नजर आएगी.

ग्लोबल मार्केट से बेहतर परफॉर्म कर रहा है भारतीय बाजार

भारतीय बाजार की इस वक्त जैसी स्थिति है यह साल 2003 से 2007 के बुल मार्केट जैसी है. जो 2 से 3 साल तक बनी रहेगी. हालांकि आने वाले समय में बाजार में उतार-चढ़ाव जरूर दिख सकते हैं, ऐसे में कुछ सावधानियां बरतने की जरूरत है. लेकिन फिलहाल भारतीय बाजार मजबूत अपट्रेंड में है और ग्लोबल मार्केट से भी बेहतर परफॉर्म कर रहा है. हालांकि इससे इनकार नहीं किया जा सकता कि आने वाले समय में कच्चे तेल की बढ़ती कीमत और युएस बॉन्ड यील्ड का बढ़ना बाजार में शार्ट टर्म उतार-चढ़ाव ला सकता है. अगर बाजार में 10 से 20 पर्सेंट का कोई करेक्शन दिखे तो खरीददारों के लिए यह बढ़िया मौका साबित हो सकता है.

रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी के दाम भी बढ़ेंगे

भारतीय बाजार की जैसी स्थिति है उसमें जानकार मानते हैं कि इस वक्त रियल स्टेट स्टॉक्स को लंबे समय तक के लिए होल्ड किया जा सकता है. ऐसे में भारत में फिर से एक बार रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी के दाम बढ़ सकते हैं और यह दौर आने वाले 5 सालों तक चलने की संभावना है. अगर आप रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी खरीदना चाहते हैं तो यह समय आपके लिए उचित है क्योंकि आने वाले वक्त में रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी की कीमतों में उभार देखने को मिल सकता है.

निवेशकों को संभलने की भी जरूरत है

शेयर बाजार उस समुंदर की तरह है जिसमें ज्वार भाटा आता रहता है. ऐसे में इस वक्त भारतीय बाजार भले ही शिखर पर है लेकिन निवेशकों को बहुत सोच समझकर बाजार में बने रहने की आवश्यकता है. क्योंकि केंद्रीय बैंकों की मौद्रिक नीतियों और बॉन्ड यील्ड में अगर बढ़ोतरी हुई तो पूंजी बाजार में तेजी से गिरावट आ सकती है. ऐसे में भारतीय शेयर बाजार में 10 से 15 फ़ीसदी की भारी गिरावट दर्ज की जा सकती है. इसलिए अगर आप शेयर बाजार में निवेश कर रहे हैं या निवेश करने की सोच रहे हैं तो बेहद सावधानी से और किसी भी शेयर को अच्छी तरह से जांच परख के ही उसमें निवेश करें.

हफ्ते के पहले दिन बढ़त के साथ खुले शेयर बाजार के दोनों सूचकांक

मुंबई। कारोबारी सप्ताह के पहले दिन सोमवार को शुरुआती कारोबार में भारतीय शेयर बाजार के दोनों प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स और निफ्टी बढ़त के साथ खुले। वैश्विक बाजारों से मिले अच्छे संकेत और घरेलू कंपनियों के बेहतर प्रदर्शन की बदौलत शेयर बाजार बढ़त के साथ खुला।

शेयर बाजार को कोटेक महिन्द्रा, एनटीपीसी और एचडीएफसी बैंक से अच्छा सपोर्ट मिल यहा है। फिलहाल 30 शेयरों वाला बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई( का संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 194.27 अंक यानी 0.15 फीसदी की मजबूती के साथ 38,628.99 के स्‍तर पर कारोबार कर रहा है। वहीं, दूसरी और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों वाला संवेदी इंडेक्स निफ्टी 65.45 अंक की बढ़त यानी 0.50 फीसदी की तेजी के साथ 11457.05 के स्‍तर पर कारोबार कर रहा है। (एजेंसी, हि.स.)

रेटिंग: 4.61
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 306
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *