क्रिप्टोकरेंसी बाजार

कहां है ज्यादा रिस्क और रिटर्न

कहां है ज्यादा रिस्क और रिटर्न
निगेटिव रिटर्न से कम होती है पैसे की वैल्यू
मान लीजिए आपने कहीं 100 रुपए निवेश किए हैं जहां से आपको 5% रिटर्न मिलना है। ऐसे में अगर महंगाई दर 8% है तो आपके पैसे की वैल्यू सालाना तौर पर 3% घट जाएगी। यानी आपके 100 रुपए की वैल्यू 97 रुपए की रह कहां है ज्यादा रिस्क और रिटर्न जाएगी।

एक्सिस ब्लूचिप फंड (लार्ज-कैप)

निगेटिव रिटर्न से रहें सावधान: महंगाई को देखते हुए करें निवेश, नहीं तो आपके पैसे की वैल्यू हो जाएगी कम

RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा है कि 'रूस और ब्राजील को छोड़कर आज लगभग हर देश में ब्याज दरें निगेटिव हैं।' ब्याज दरों के निगेटिव होने का मतलब है कि फिक्स्ड डिपॉजिट पर आपको महंगाई की दर से कम ब्याज मिलना। इसे निगेटिव रिटर्न भी कहा जाता है।

निगेटिव रिटर्न का सीधा असर आपके फाइनेंशियल गोल पर पड़ता है। ऐसे में फाइनेंशियल प्लानर की सलाह माने तो निवेशकों को पैसा ऐसी जगह लगाना चाहिए जहां महंगाई से ज्यादा रिटर्न मिल रहा हो। हम आपको निगेटिव रिटर्न क्या है? और इससे किस तरह बचा जा सकता है? ये बता रहे हैं.

सबसे पहले समझें निगेटिव रिटर्न क्या होता है?
जब आपको अपने निवेश पर महंगाई दर की तुलना में कम रिटर्न मिलता है तो इसे ही निगेटिव रिटर्न कहा जाता है। मान लीजिए आपने किसी बैंक में फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) कराई है, जिस पर आपको 5% का सालाना रिटर्न मिल रहा है, लेकिन रिटेल महंगाई दर 8% के करीब है। यानी महंगाई दर की तुलना में आपको अपने निवेश पर 3% कम रिटर्न मिल रहा है।

क्रिप्टो क्राइम में बहुत तेजी से उछाल

लोकप्रियता बढ़ने के साथ-साथ क्रिप्टोकरेंसी क्राइम में भी तेजी आ रही है. Crypto Head ने अपनी रिपोर्ट में अमेरिकी फेडरल ट्रेड कमिशन के डेटा के आधार पर बताया कि 2016 के मुकाबले क्रिप्टो क्राइम में 312 फीसदी का उछाल आया है. इसमें वॉलेट से डिजिटल करेंसी की चोरी से लेकर कई अन्य तरह के स्कैम शामिल हैं.

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया लगातार कह रहा है कि प्राइवेट क्रिप्टोकरेंसी देश के फाइनेंशियल सिस्टम के लिए ठीक नहीं है. वह इस पर पूरी तरह बैन चाहता है. हालांकि, सरकार इस पर बैन लगाने के मूड में नहीं है. विंटर सेशन में क्रिप्टोकरेंसी रेग्युलेशन बिल 2021 को लाया गया था, लेकिन इस पर विशेष चर्चा नहीं हो पाई. ऐसे में इस साल क्रिप्टोकरेंसी को कहां है ज्यादा रिस्क और रिटर्न रेग्युलेट करने को लेकर विस्तृत गाइडलाइन आ सकती है. क्रिप्टो जानकारों का कहना है कि सरकार अब कहां है ज्यादा रिस्क और रिटर्न इसे पूरी तरह बैन नहीं कर सकती है, हालांकि कई तरह की पाबंदियां जरूर लगाई जाएगी. इधर रिजर्व बैंक अपनी खुद की डिजिटल करेंसी CBDC की दिशा में तेजी से काम कर रहा है.

वोलाटिलिटी के कहां है ज्यादा रिस्क और रिटर्न बावजूद कमाई संभव

इसमें कोई शक नहीं है कि क्रिप्टोकरेंसी का भाव बहुत तेजी से ऊपर-नीचे आता-जाता है. इसका ये मतलब नहीं है कि इससे कमाई संभव नहीं है. अगर आप में धैर्य है तो हर हाल कहां है ज्यादा रिस्क और रिटर्न में पैसा बनेगा. आप जितना निवेश कर सकते हैं उसका अधिकतम 5-10 फीसदी ही क्रिप्टो में निवेश करें. इसके अलावा निवेश करने से पहले गहराई से अध्ययन भी करें.

अगर आप क्रिप्टो में निवेश करते हैं कहां है ज्यादा रिस्क और रिटर्न तो डिजिटल क्राइम का खतरा हमेशा बना रहता है. चूंकि यह रेग्युलेटेड नहीं है, जिसके कारण क्रिप्टो क्राइम पर विशेष कार्रवाई भी नहीं होती है. जैसे-जैसे इसकी पॉप्युलैरिटी बढ़ रही है, क्रिप्टो वॉलेट हैक, डिजिटल स्कैम के मामले काफी बढ़ गए हैं. खुद को एलन मस्क बताने वाला एक क्रिप्टो हैकर अक्टूबर 2020 से अब तक करीब 15 करोड़ रुपए की चोरी कर चुका है.

70-80 फीसदी तक की आती है गिरावट

इतना सबकुछ जानने के बावजूद अगर आप क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करते हैं तो लंबे समय के निवेशक बनें और निवेश के लिए सही समय का इंतजार करें. क्रिप्टोकरेंसी में 70-80 फीसदी तक की गिरावट और फिर उसके बाद उछाल सामान्य घटना है. क्रिप्टोकरेंसी में 24 घंटे ट्रेडिंग होती है. दुनिया में किसी भी अच्छी और बुरी खबर का इसकी कीमत पर सीधा असर होता है. अगर आपने किसी लेवल पर क्रिप्टो में निवेश किया है और इन्वेस्टमेंट की वैल्यु घट गई है तो इंतजार करें. लंबे समय में क्रिप्टो में निवेश कभी भी घाटे का सौदा नहीं होगा.

फाइनेंशियल एक्सपर्ट्स का मानना है कि आपने जिस लेवल पर खरीदारी की है, उससे 20 फीसदी या ज्यादा की गिरावट होने पर अपने पोर्टफोलियो में और करेंसी ऐड करें. इस प्रक्रिया को अपनाने से लंबी अवधि में कई गुना लाभ होगा. किसी भी असेट क्लास के मुकाबले क्रिप्टोकरेंसी ज्यादा तेजी से रिबाउंड करती है. यह देखा गया है कि जिन निवेशकों ने क्रिप्टो में 3 साल या उससे ज्यादा निवेश किया है, वे कई गुना रिटर्न पाने में सफल रहे हैं.

5 साल में सबसे ज्यादा रिटर्न देने वाले ये 5 म्यूचुअल फंड!

aajtak.in

अगर आप थोड़ा रिस्क लेने के लिए सक्षम हैं तो फिर म्यूचुअल फंड्स में निवेश कर सकते हैं. दरअसल, जिन लोगों को शेयर बाजार की जानकारी होती है, उन्हें म्यूचुअल फंड में निवेश की सलाह दी जाती है. लेकिन म्यूचुअल फंड्स में निवेश से पहले फंड का चयन बेहद अहम होता है.

म्यूचुअल फंड में निवेश

म्यूचुअल फंड की भीड़ में आप किस कहां है ज्यादा रिस्क और रिटर्न फंड में निवेश करें, इसके लिए वित्तीय सलाहकार की मदद ले सकते हैं. वैसे तमाम ऐसे म्यूचुअल फंड्स ने जिसने पिछले कुछ सालों में बेहतर रिटर्न दिया है. म्यूचुअल फंड्स को लार्ज-कैप फंड्स, मिड-कैप फंड्स, स्मॉल-कैप फंड्स, फ्लेक्सि-कैप फंड्स और ELSS की कैटेगरी में रखा जाता है. पिछले 5 वर्षों में शानदार रिटर्न देने कहां है ज्यादा रिस्क और रिटर्न वाले ये 5 म्यूचुअल फंड्स हैं. (Photo: Getty Images)

Investment Tips: म्यूचुअल फंड या शेयर मार्केट में से कहां निवेश करना है ज्यादा फायदेमंद! यहां जानें

Investment Tips: म्यूचुअल फंड या शेयर मार्केट में से कहां निवेश करना है ज्यादा फायदेमंद! यहां जानें

Mutual Funds vs Share Market: आजकल के समय में हर व्यक्ति शेयर मार्केट में निवेश करना चाहता है. शेयर मार्केट में निवेश करने का दो तरीका है. पहला कि निवेशक अपना एक डीमैट अकाउंट खोलें और इसके जरिए बाजार में निवेश करें. दूसरे तरीके में आपको कहां है ज्यादा रिस्क और रिटर्न म्यूचुअल फंड में एसआईपी की मदद से लंबे वक्त में मोटा रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं.

Investment Tips: म्यूचुअल फंड या शेयर मार्केट में से कहां निवेश करना है ज्यादा फायदेमंद! यहां जानें

रिलेटेड फ़ोटो

Post Office Schemes: पोस्ट ऑफिस की इन स्कीम्स में मिल रहा है सबसे ज्यादा ब्याज, जानें कितने दिन में आपके पैसे होंगे डबल

Financial Tips: फेस्टिव सीजन में ज्यादा शॉपिंग से बिगड़ गया है आपका बजट, इन टिप्स को अपनाकर वित्तीय स्थिति को करें ठीक

FD Rates: ये पांच सरकारी बैंक अपने ग्राहकों को टैक्स सेविंग एफडी पर दे रहे सबसे ज्यादा रिटर्न, यहां देखें पूरी लिस्ट

Matritva Vandana Yojana: क्या है पीएम मातृत्व वंदना योजना, जानिए महिलाओं को सरकार कितनी देती है सहायता राशि

Tour Package: नेपाल घूमने की बना रहे हैं प्लानिंग तो IRCTC के इस शानदार टूर का उठाए लुत्फ! जानिए पैकेज डिटेल्स

टॉप स्टोरीज

Shraddha Case: श्रद्धा मर्डर केस में पुलिस की भूमिका पर उठे सवाल, क्या शुरुआत में ही बरती ढील? सवालों के घेरे में अधिकारी

Jhalak Dikhhla कहां है ज्यादा रिस्क और रिटर्न Jaa 10 Winner: जानें कौन हैं Gunjan Sinha जिसने ‘झलक’ की ट्रॉफी की अपने नाम, 8 साल की उम्र में बन गई हैं सबकी चहेती

Gujarat Election 2022: ढोलका सीट पर बीजेपी साल 2017 में मात्र 327 वोटों से जीती थी, इस बार पार्टी ने बदला अपना उम्मीदवार, कांटे का हो सकता है मुकाबला

33 साल बाद चीन की जनता ने आखिर क्यों उठाई तानाशाही के खिलाफ आवाज़?

Weather Update: पहाड़ों पर बर्फबारी से कांपने लगा उत्तर भारत, दक्षिणी राज्यों में बारिश की आशंका

Risk vs return: क्रिप्टोकरेंसी में निवेश से पहले इन बातों पर जरूर गौर करें, समझिए रिटर्न ज्यादा है या रिस्क

Risk vs return: क्रिप्टोकरेंसी में निवेश से पहले इन बातों पर जरूर गौर करें, समझिए रिटर्न ज्यादा है या रिस्क

TV9 Bharatvarsh | Edited By: शशांक शेखर

Updated on: Jan 02, 2022 | 11:44 AM

2021 में Cryptocurrency ने निवेशकों की झोली भरने का काम किया. ऐसे में इस साल भी निवेशकों का इसके प्रति आकर्षित होना लाजिमी है. हालांकि, रेग्युलेशन के मोर्चे पर भी इस साल कई बड़े फैसले लिए जा सकते हैं. इन बदले हालात में अगर आप क्रिप्टोकरेंसी कहां है ज्यादा रिस्क और रिटर्न में निवेश के इच्छुक हैं तो पहले रिस्क और रिटर्न का सही तरीके से मूल्यांकन करना लाजिमी है. आइए कुछ फैक्टर्स को समझते हैं जिससे रिस्क और रिटर्न को लेकर बेहतर समझ विकसित होगी.

क्रिप्टो क्राइम में बहुत तेजी से उछाल

लोकप्रियता बढ़ने के साथ-साथ क्रिप्टोकरेंसी क्राइम में भी तेजी आ रही है. Crypto Head ने अपनी रिपोर्ट में अमेरिकी फेडरल ट्रेड कमिशन के डेटा के आधार पर बताया कि 2016 के मुकाबले क्रिप्टो क्राइम में 312 फीसदी का उछाल आया है. इसमें वॉलेट से डिजिटल करेंसी की चोरी से लेकर कई अन्य तरह के स्कैम शामिल हैं.

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया लगातार कह रहा है कि प्राइवेट क्रिप्टोकरेंसी देश के फाइनेंशियल सिस्टम के लिए ठीक नहीं है. वह इस पर पूरी तरह बैन चाहता है. हालांकि, सरकार इस पर बैन लगाने के मूड में नहीं है. विंटर सेशन में क्रिप्टोकरेंसी रेग्युलेशन बिल 2021 को लाया गया था, लेकिन इस पर विशेष चर्चा नहीं हो पाई. ऐसे में इस साल क्रिप्टोकरेंसी को रेग्युलेट करने को लेकर विस्तृत गाइडलाइन आ सकती है. क्रिप्टो जानकारों का कहना है कि सरकार अब इसे पूरी तरह बैन नहीं कर सकती है, हालांकि कई तरह की पाबंदियां जरूर लगाई जाएगी. इधर रिजर्व बैंक अपनी खुद की डिजिटल करेंसी CBDC की दिशा में तेजी से काम कर रहा है.

वोलाटिलिटी के बावजूद कमाई संभव

इसमें कोई शक नहीं है कि क्रिप्टोकरेंसी का भाव बहुत तेजी से ऊपर-नीचे आता-जाता है. इसका ये मतलब नहीं है कि इससे कमाई संभव नहीं है. अगर आप में धैर्य है तो हर हाल में पैसा बनेगा. आप जितना निवेश कर सकते हैं उसका अधिकतम 5-10 फीसदी ही क्रिप्टो में निवेश करें. इसके अलावा निवेश करने से पहले गहराई से अध्ययन भी करें.

अगर आप क्रिप्टो में निवेश करते हैं तो डिजिटल क्राइम का खतरा हमेशा बना रहता है. चूंकि यह रेग्युलेटेड नहीं है, जिसके कारण क्रिप्टो क्राइम पर विशेष कार्रवाई भी नहीं होती है. जैसे-जैसे इसकी पॉप्युलैरिटी बढ़ रही है, क्रिप्टो वॉलेट हैक, डिजिटल कहां है ज्यादा रिस्क और रिटर्न स्कैम के मामले काफी बढ़ गए हैं. खुद को एलन मस्क बताने वाला एक क्रिप्टो हैकर अक्टूबर 2020 से अब तक करीब 15 करोड़ रुपए की चोरी कर चुका है.

70-80 फीसदी तक की आती है गिरावट

इतना सबकुछ जानने के बावजूद अगर आप क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करते हैं तो लंबे समय के निवेशक बनें और निवेश के लिए सही समय का इंतजार करें. क्रिप्टोकरेंसी में 70-80 फीसदी तक की गिरावट और फिर उसके बाद उछाल सामान्य घटना है. क्रिप्टोकरेंसी में 24 घंटे ट्रेडिंग होती है. दुनिया में किसी भी अच्छी और बुरी खबर का इसकी कीमत पर सीधा असर होता है. अगर आपने किसी लेवल पर क्रिप्टो में निवेश किया है और इन्वेस्टमेंट की वैल्यु घट गई है तो इंतजार करें. लंबे समय में क्रिप्टो में निवेश कभी भी घाटे का सौदा नहीं होगा.

फाइनेंशियल एक्सपर्ट्स का मानना है कि आपने जिस लेवल पर खरीदारी की है, उससे 20 फीसदी या ज्यादा की गिरावट होने पर अपने पोर्टफोलियो में और करेंसी ऐड करें. इस प्रक्रिया को अपनाने से लंबी अवधि में कई गुना लाभ होगा. किसी भी असेट क्लास के मुकाबले क्रिप्टोकरेंसी ज्यादा तेजी से रिबाउंड करती है. यह देखा गया है कि जिन निवेशकों ने क्रिप्टो में 3 साल या उससे ज्यादा निवेश किया है, वे कई गुना रिटर्न पाने में सफल रहे हैं.

रेटिंग: 4.61
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 227
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *